रामचरितमानस के मूल मंत्र

??

रामचरितमानस की चौपाइयों में ऐसी क्षमता है कि इन चौपाइयों के जप से ही मनुष्य बड़े-से-बड़े संकट में भी मुक्त हो जाता इन मंत्रो का जीवन में प्रयोग अवश्य करे प्रभु श्रीराम आप के जीवन को सुखमय बना देगे।

?1. रक्षा के लिए

मामभिरक्षक रघुकुल नायक | घृत वर चाप रुचिर कर सायक ||

?2. विपत्ति दूर करने के लिए

राजिव नयन धरे धनु सायक | भक्त विपत्ति भंजन सुखदायक ||

?3. सहायता के लिए

मोरे हित हरि सम नहि कोऊ | एहि अवसर सहाय सोई होऊ ||

?4. सब काम बनाने के लिए

वंदौ बाल रुप सोई रामू | सब सिधि सुलभ जपत जोहि नामू ||

?5. वश मे करने के लिए

सुमिर पवन सुत पावन नामू | अपने वश कर राखे राम ||

?6. संकट से बचने के लिए

दीन दयालु विरद संभारी | हरहु नाथ मम संकट भारी ||

?7. विघ्न विनाश के लिए

सकल विघ्न व्यापहि नहि तेही | राम सुकृपा बिलोकहि जेहि ||

?8. रोग विनाश के लिए

राम कृपा नाशहि सव रोगा | जो यहि भाँति बनहि संयोगा ||

?9. ज्वार ताप दूर करने के लिए

दैहिक दैविक भोतिक तापा | राम राज्य नहि काहुहि व्यापा ||

?10. दुःख नाश के लिए

राम भक्ति मणि उस बस जाके | दुःख लवलेस न सपनेहु ताके ||

?11. खोई चीज पाने के लिए

गई बहोरि गरीब नेवाजू | सरल सबल साहिब रघुराजू ||

?12. अनुराग बढाने के लिए

सीता राम चरण रत मोरे | अनुदिन बढे अनुग्रह तोरे ||

?13. घर मे सुख लाने के लिए

जै सकाम नर सुनहि जे गावहि | सुख सम्पत्ति नाना विधि पावहिं ||

?14. सुधार करने के लिए

मोहि सुधारहि सोई सब भाँती | जासु कृपा नहि कृपा अघाती ||

?15. विद्या पाने के लिए

गुरू गृह पढन गए रघुराई | अल्प काल विधा सब आई ||

?16. सरस्वती निवास के लिए

जेहि पर कृपा करहि जन जानी | कवि उर अजिर नचावहि बानी ||

?17. निर्मल बुद्धि के लिए

ताके युग पदं कमल मनाऊँ | जासु कृपा निर्मल मति पाऊँ ||

?18. मोह नाश के लिए

होय विवेक मोह भ्रम भागा | तब रघुनाथ चरण अनुरागा ||

?19. प्रेम बढाने के लिए

सब नर करहिं परस्पर प्रीती | चलत स्वधर्म कीरत श्रुति रीती ||

?20. प्रीति बढाने के लिए

बैर न कर काह सन कोई | जासन बैर प्रीति कर सोई ||

?21. सुख प्रप्ति के लिए

अनुजन संयुत भोजन करही | देखि सकल जननी सुख भरहीं ||

?22. भाई का प्रेम पाने के लिए

सेवाहि सानुकूल सब भाई | राम चरण रति अति अधिकाई ||

?23. बैर दूर करने के लिए

बैर न कर काहू सन कोई | राम प्रताप विषमता खोई ||

?24. मेल कराने के लिए

गरल सुधा रिपु करही मिलाई | गोपद सिंधु अनल सितलाई ||

?25. शत्रु नाश के लिए

जाके सुमिरन ते रिपु नासा | नाम शत्रुघ्न वेद प्रकाशा ||

?26. रोजगार पाने के लिए

विश्व भरण पोषण करि जोई | ताकर नाम भरत अस होई ||

?27. इच्छा पूरी करने के लिए

राम सदा सेवक रूचि राखी | वेद पुराण साधु सुर साखी ||

?28. पाप विनाश के लिए

पापी जाकर नाम सुमिरहीं | अति अपार भव भवसागर तरहीं ||

?29. अल्प मृत्यु न होने के लिए

अल्प मृत्यु नहि कबजिहूँ पीरा | सब सुन्दर सब निरूज शरीरा ||

?30. दरिद्रता दूर के लिए

नहि दरिद्र कोऊ दुःखी न दीना | नहि कोऊ अबुध न लक्षण हीना ||

?31. प्रभु दर्शन पाने के लिए

अतिशय प्रीति देख रघुवीरा | प्रकटे ह्रदय हरण भव पीरा ||

?32. शोक दूर करने के लिए

नयन बन्त रघुपतहिं बिलोकी | आए जन्म फल होहिं विशोकी ||

?33. क्षमा माँगने के लिए

अनुचित बहुत कहहूँ अज्ञाता | क्षमहुँ क्षमा मन्दिर दोऊ भ्राता ||


ये रहे श्रीरामचरितमानस के कुछ मूल मंत्र जो आपके जीवन को सरल बना सकता है।


आपका बहुत बहुत धन्यवाद

 

  1. प्यार के लिए बढ़िया विचार | love quotes in hindi
  2. life quotes in hindi \जीवन के लिए नए विचार 
  3. good morning what’s app shayari in hindi|शुभ प्रभात शायरी सिर्फ आपके लिए
  4. Some of the precious ideas of President Abdul Kalam (Missile Man)|राष्ट्रपति अब्दुल कलाम{मिसाइल मैंन}के कुछ अनमोल विचार
  5. Failure Quotes in hindi & english | असफलता के बारे में कुछ महत्वपूर्ण विचार
  6. Quotes On Success in hindi |सफलता पर हिंदी में विचार
  7. सभी दुखों के लिए रामचरित मानस के महा मन्त्र (जरूर पढ़े)
  8. inspirational quotes for success life in hindi|सफल जीवन के लिए
  9. Positive Quotes Day in hindi only for morning | दिन की शुरुआत अनमोल विचारों से
  10. thought of the day in hindi| आज के लिए अनमोल विचार जरुर पढ़िए
  11. शायरी का सबसे बड़ा संग्रह जरुर पढ़िए
  12. कुछ अनमोल विचार हिंदी में/top motivational Quotes in hindi
  13. कुछ अनमोल विचार हिंदी में/top motivational Quotes in hindi
  14. तो फिर आप क्यों नही?जब ये लोग कर सकते है पढना न भूलना
  15. कुछ बढ़िया विचारों का संग्रह आपकी जिंदगी के लिए
  16. कुछ प्रेरणादायक विचार जो आपकी जिन्दगी बदल देंगे
  17. सुबह टहलने के फायदे /सुबह सैर करने के बढ़िया फायदे क्या है जानिए यंहा पर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here